मुसी नदी विकास परियोजना के लिए सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण शुरू

[custom_ad]

मूसी नदी और ऐतिहासिक सालारजंग संग्रहालय का हवाई दृश्य। फ़ाइल | फ़ोटो क्रेडिट: केवीएस गिरि

तेलंगाना सरकार ने प्रतिष्ठित नदी सौंदर्यीकरण और विकास परियोजना के लिए मार्ग प्रशस्त करने हेतु मूसी से सटी संपत्तियों का जायजा लेने के लिए सामाजिक-आर्थिक सर्वेक्षण शुरू कर दिया है।

सूत्रों के अनुसार, राजस्व विभाग द्वारा दोनों जलाशयों से लेकर हयातनगर के गौरेली गांव तक नदी के 55 किलोमीटर लंबे मार्ग के दोनों ओर 50 मीटर के क्षेत्र को कवर करने के लिए सर्वेक्षण किया जा रहा है।

इसमें हैदराबाद जिले के आठ मंडल, मेडचल-मलकजगिरी के दो मंडल और रंगा रेड्डी जिले का एक मंडल शामिल है। सभी संपत्तियों की गणना उनके स्वामित्व, कानूनी स्थिति, सीमा और अन्य विवरणों के साथ की जाएगी।

नदी के दोनों किनारों पर 50 मीटर तक फैले क्षेत्र को मूसी रिवरफ्रंट डेवलपमेंट कॉरपोरेशन (एमआरडीसीएल) द्वारा कार्यान्वित की जा रही मूसी नदी विकास परियोजना के भाग के रूप में 'यूटिलिटी कॉरिडोर' के रूप में नामित किया गया है।

उपयोगिता गलियारा परिवहन, ट्रंक सीवर बिछाने और अन्य विकास कार्यों के लिए आरक्षित रहेगा।

[custom_ad]

Source link
[custom_ad]